सिकंदर का अभिमान

सिकंदर अपने विश्व- विजय के अभियान पर निकला हुआ था । अनेक देशो को जीतता हुआ वह हिंदुस्तान में भी आ पहुचा ।जैसे -जैसे उसकी जीत होती जा रही थी , उसका अभिमान भी बढ़ाता जा रहा था । उसे लगाने लगा था की उससे अधिक शक्तिसलि इस धरती पर ओर कोई  नही है । … Read more

बगुला भगत और केकड़ा – The Crane And The Crab

एक वन प्रदेश में एक बहुत बडा तालाब था। हर प्रकार के जीवों के लिए उसमें भोजन सामग्री होने के कारण वहां नाना प्रकार के जीव, पक्षी, मछलियां, कछुए और केकडे आदि वास करते थे। पास में ही बगुला रहता था, जिसे परिश्रम करना बिल्कुल अच्छा नहीं लगता था। उसकी आंखें भी कुछ कमज़ोर थीं। … Read more

कुशल व्यापारी और राजसेवक – Skilled Businessman and Servicer

वर्धमान नामक एक शहर में एक बहुत ही कुशल व्यापारी रहता था। राजा को उसकी क्षमताओं के बारे में पता था, और इसलिए उसने उसे राज्य का प्रशासक बना दिया। अपने कुशल तरीकों से उसने आम आदमी को भी खुश रखा था, और साथ ही दूसरी तरफ राजा को भी बहुत प्रभावित किया था। कुछ … Read more

मूर्ख साधू और ठग – The Foolish Sage & Swindler

एक बार की बात है, किसी गाँव के मंदिर में देव शर्मा नाम का एक प्रतिष्ठित साधू रहता था। गाँव में सभी उसका सम्मान करते थे। उसे अपने भक्तों से दान में तरह तरह के वस्त्र, उपहार, खाद्य सामग्री और पैसे मिलते थे। उन वस्त्रों को बेचकर साधू ने काफी धन जमा कर लिया था। … Read more